संस्थापक

महर्षि उपेन्द्र जी महाराज

छात्राओं में रचनात्मक साहित्य-सृजन की प्रतिभा का विकास करने के लिये कालेज के प्रवाचकों, प्राध्यापकों के निर्देशन में एक कालेज पत्रिका प्रकाशित होती है |

प्रबन्धक

भूपेन्द्र भारतीय

सभी विद्यार्थिओं को अपना परिचय -पत्र प्रतिदिन अपने साथ अनिवार्य रूप से लाना होगा | परिचय-पत्र के अभाव में पांच रुपया अर्थदण्ड देय होगा |

सांस्कृतिक इकाई 

भारतीय सेना में सेवारत अथवा अवकाश प्राप्त अधिकारियों या अन्य रैंक के केवल पति-पत्नी/पुत्र-पुत्री (अविवाहित) :- 10 अंक

अनुशासन सम्बन्धी नियम :

सभी विद्यार्थिओं को अपना परिचय -पत्र प्रतिदिन अपने साथ अनिवार्य रूप से लाना होगा | परिचय-पत्र के अभाव में पांच रुपया अर्थदण्ड देय होगा |

Welcome

किसी भी प्रवेशार्थी (जो प्रवेश सम्बन्धी न्यूनतम अर्हता रखता है ) को निम्न लिखित के अंतर्गत प्रवेश अनुमन्य होगा :-

 भूतपूर्व छात्राओं को प्रयोशालाओं में प्रयोग करने की अनुमति विश्वविद्यालय परीक्षाएँ प्रारंभ होने के एक माह पूर्व, अलग से दिये गये प्रार्थना पत्र पर विभागाध्यक्ष की अनुशंसा होने पर निर्धारित शुल्क जमा करने के उपरान्त दी जायेगी 

Important Link

  • National Council for Teacher Education
  • Kanpur University
  • Scholarship UP
  • Syllabus
  • Employment News
  • Govt Web Directory
  • National Portal Of India
  • Higher Education UP
  • NCTE India
  • RTI India

About College

अनुसूचित जाति/जनजाति/अन्य पिछड़ी जाति /स्वतंत्रता संग्राम सेनानी / अपंग सुरक्षा कर्मी / विकलांग छात्रा/ एन.सी.सी./प्रदेश या राष्ट्रीय स्तर के खेल-कूद में भाग लेने से सम्बन्धित प्रवेशार्थी को सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत-प्रमाण पत्र कि फोटो संलग्न करना अनिवार्य होगा|

More Info

महाविद्यालय की स्थापना का उददेश्य ग्रामीण क्षेत्र के बालक-बालिकाओं को उच्च शिक्षा की समुचित व्यवस्था करना ग्रामीण क्षेत्र के इस सौरिख विकास खण्ड में बालक-बालिकाओं की शिक्षा दीक्षा हेतु अनेक इण्टर कालेज है किन्तु उच्च शिक्षा हेतु कोई भी उचित शैक्षिक वातावरण का महाविद्यालय नही है, जिसके कारण अधिकांश छात्र छात्रायें उच्च शिक्षा प्राप्त कर बौद्धिक रूप से विकलांग हों जाते हैं | अत: बालक-बालिकाओं की शैक्षिक कठिनाईयों के समाधान हेतु शिक्षा प्रेमियों के सहयोग से विकास खण्ड मुख्यालय हटकर महाविद्यालय की स्थापना चौ० माँ गायत्री महाविद्यालय के नाम से की गई है | छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय से सम्बद्ध इस महाविद्यालय की स्थापना की स्वीकृति उत्तर प्रदेश शासन से प्राप्त हों चुकी है | जिसमे निम्नांकित संकाय की शिक्षा प्रदान की जायेगी |

प्रत्येक अभ्यर्थी अपने आवेदन पत्र में शैक्षणिक एवं अतिरिक्त अनुमान्य अंकों की प्रमाणिकता की घोषणा स्वयं करेगा तथा यदि यह घोषणा गलत पाई गयी तो उसकी पात्रता निरस्त कर दी जायेगी |

प्रवेश योग्यता परिणाम घोषित होने के बाद अनुमान्य अंकों के प्रमाण-पत्र स्वीकार नही किये जायेंगे अन्य कोई अभिलेख वाद में विचारार्थ स्वीकार नही किया जायेगा |
* विशेष परिस्थितियों में कुलपति को प्रवेश के लिये अनुमति प्रदान करने का अधिकार सुरक्षित होगा | संस्थागत छात्र को किसी भी ऐसे विषय का प्रश्नपत्र को लेने की अनुमति नही दी जायेगी | जिसकी सम्बन्धित कालेज में पढ़ायें जाने की व्यवस्था नही है | अथवा जिसकी विश्विद्यालय द्वारा मान्यता प्रदान नही की गयी है |
* प्रवेश हेतु नियमों का पालन किया जाना अनिवार्य होगा | नियमों का पालन में किसी भी समस्या अथवा कठिनाई का अनुभव होने पर प्राचार्य कुलपति को लिखेंगे और कुलपति का निर्णय अंतिम होगा |
* एक कालेज से दूसरे कालेज में छात्रों का स्थानान्तरण सम्बन्धित प्राचार्यों की सहमती से सरकारी शिक्षक एवं कर्मचारी वार्डों को सभी कक्षाओं में स्थानान्तरण अनुमान्य हो सकता है एवं शेष सभी छात्रों को कालेज स्तर पर प्रथम वर्ष की कक्षा को छोड़कर अन्य सभी कक्षाओं में स्थानातरण पर विचार किया जा सकता है | 
* प्रवष्टि छात्रा को कक्षा में उपस्थित रहना अनिवार्य होगा |15 कार्य दिवस पर निरन्तर अनुपस्थित रहने पर प्राचार्य द्वारा प्रवेश निरस्त किया जा सकेगा | इसका उत्तरदायित्व छात्रा का होगा |
* अभ्यर्थी का यह दायित्व होगा कि वह कालेज में अपने प्रवेश के सम्बन्ध में निरन्तर सम्पर्क करता रहे और सूचना पट पर दी गयी सूचनाओं/सूचियों की अप-टू-डेट जानकारी रखे ताकि निर्धारित अवधि ले भीतर प्रवेश ले सके|
* प्रवेश के इच्छुक प्रत्येक अभ्यर्थी का यह भी दायित्व होगा कि वह ऊपर दिये गये नियमों और विश्वविद्यालयों के अन्य सम्बन्धित नियमों को भली भांति पढ़ ले उनका प्रवेश किस दृष्टिकोण के नियमो के प्रतिकूल तो नही हुआ, उसका यह भी दायित्व होगा कि उन्होंने प्रवेश हेतु असत्य अथवा भ्रामक अंक सूची के माध्यम से तो प्रवेश लेने की कोशिश नही की है | नियमों के प्रतिकूल किये गये प्रवेश विश्वविद्यालय द्वारा निरस्त किये जाने की दशा में उत्तरदायित्व सर्वथा अभ्यर्थी का ही होगा |

College Gallery

 छात्र /छात्राओं को अध्यापिकाओं के प्रति सम्मान प्रदर्शित करना चाहिये तथा उनका सामान्य व्यवहार शिष्ट एवं सुसभ्य होना चाहिये | किसी भी दशा में अशिष्टता क्षम्य नही होगी | 

ग्रीष्मकाल में छात्र /छात्राओं को महाविद्यालय क्रीड़ा मैदान में खेलने की अनुमति प्राचार्य द्वारा दी जा सकती है |

सभी छात्र /छात्राओं को अपने वाहन साइकिल स्टैंड पर रखना अनिवार्य है |अन्यत्र रखने पर कम से कम रु. 10/- आर्थिक दण्ड देय होगा तथा अन्यत्र रखने से हुई हानि का उत्तरदायित्व महाविद्यालय का नही होगा |

कार्यालय के अन्दर बिना अनुमति प्रवेश वर्जित है | 
उपर्युक्त निर्देशों का उल्लंघन गंभीर अपराध समझा जायेंगा तथा अपराधों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी |

प्राचार्य कक्ष में कोई छात्र /छात्रा बिना ड्रेस नही प्रवेश करेगा |प्रथम वर्ष में प्रवेश कि इच्छुक छात्र / छात्राओं को फॉर्म के साथ निम्न लिखित प्रमाणपत्र संलग्न करने होंगे :-

महाविद्यालय में विद्यार्थी होने के प्रमाण पत्र , रेलवे कन्सेशन तथा विद्यालय की छात्रा को प्राप्त अन्य सभी सुविधायें केवल उन्ही छात्र /छात्राओं को प्राप्त होगी जिनका पूर्ण शुल्क जमा हो गया होगा |

यदि किसी छात्र /छात्रा की उपस्थिति 75 प्रतिशत से कम है तो विश्वविद्यालय परीक्षा में सम्मिलित होने का अधिकारी नही होगा |

 छात्र/छात्रायें विषय परिवर्तन सम्बन्धी लिखित अनुमति पत्र अपने पास अवश्य सुरक्षित रखें अन्यथा उसका विषय परिवर्तन मान्य नही होगा |

What Our Facility

वाहन स्टैण्ड !

 

वाहन स्टैण्ड साइकिल,मोटर साइकिल, कार,स्कूटर आदि वाहन परिसर में कालेज द्वारा निर्धारित स्थल पर ही रखें तथा उसके देकेदार को निश्चित शुल्क देकर टोकन अवश्य प्राप्त कर लें |

खेलकूद !

 

खेलकूद- कालेज में छात्राओं के शारीरिक विकास के लिए विभिन्न खेलों की व्यवस्था खेल समिति के माध्यम से की गयी है | उत्तम खिलाडियों को विश्वविद्यालय क्रीड़ा प्रतियोगिताओं, अन्य राज्यों में आयोजित क्रीड़ा प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए भेजा जाता है | विजयी प्रतियोगी एवं दक्ष खिलाड़ियों को पारितोषिक तथा प्रमाण-पत्र प्रदान किये जाते हैं | खेलों में रूचि रखने वाले छात्राओं को क्रीड़ा अधिक्षक के माध्यम से खेलों में प्रतिभाग के लिए अवसर प्रदान किया जाता है |Sed

राष्ट्रीय सेवा योजना !

 

राष्ट्रीय सेवा योजना कालेज में शासन के निर्देशानुसार राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाई गठित है | राष्ट्रीय सेवा में रूचि रखने वाली छात्राओं को पंजीकृत किया जाता है | योजना के प्रमाण पत्र धारकों को प्रवेश परीक्षाओं एवं राजकीय सेवाओं में कृपांक की सुविधा मिलती है |

पुस्तकालय एवं वाचनालय !

 

पुस्तकालय एवं वाचनालय कालेज परिसर में छात्र-छात्राओं के शिक्षण कार्य के अतिरिक्त विभिन्न प्रकार के अध्ययन के लिए भव्य पुस्तकालय स्थापित है जहाँ विशेषकर पत्र-पत्रिकायें, शैक्षिक सूचनाएँ सम्बन्ध दुर्लभ ग्रन्थ उपलब्ध है | पुस्तकालय में ही वाचनालय की भी व्यवस्था है जहाँ शिक्षण के इतर प्राध्यापकों, छात्राओं को पठन-पाठनकी सुविधा प्रदान की जाती है |

Get In Touch

Contact Us

महाविद्यालय का शैक्षिक सत्र जुलाई से प्रारम्भ होगा | प्रवेश के इच्छुक छात्रों को प्रवेश आवेदन-पत्र भरने से पूर्व विवरणिका का भली भांति अघ्ययन कर लें | महाविद्यालय में प्रवेश पूर्णतः छात्रों कि अर्जित योग्यता के वरीयता क्रम, उ. प्र. शासन तथा कानपुर विश्वविद्यालय द्वारा प्रवेश हेतु निर्धारित नियमों के अनुरूप दिया जायेगा | प्रवेश के सम्बन्ध में प्राचार्य एवं उनके द्वारा गठित प्रवेश समिति का निर्णय अंतिम रूप से मान्य होगा | 
प्रवेश हेतु उत्तर प्रदेश शासन कानपुर विश्वविद्यालय द्वारा समय-समय पर निर्गत आरक्षण सम्बन्धी शासनादेशों /नियमावलियों में निहित प्राविधानों के अनुसार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति तथा अन्य पिछड़े वर्गों हेतु क्रमशः २१,२ तथा २७ प्रतिशत स्थान आरक्षित होंगे | आरक्षण का लाभ प्राप्त करने हेतु अनुसूचित जाति /जनजाति तथा पिछड़े वर्गों के प्रवेशार्थियों को सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत जाति प्रमाण-पत्र कि सत्यापित छायाप्रति अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करनी होगी | विकलांग वर्ग के छात्रों को नियमानुसार आरक्षण का लाभ प्रदान किया जाएगा |
सक्षम अधिकारी :- तहसीलदार द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र

Find Us Here

College Information :

Maa Gayatri Mahavidyalaya

Khadesar Dham Post Gayatri Siddh Peeth Kanpur Nagar-209214

Phone:(0512) 512-2733030

Mobile no:- 9450163011

Email: info@maagayatrimahavidyalay.in

Follow on: Facebook